अचानक 1 करोड़ का बिल! जानिए कैसे बचें विदेशी यात्रा के डेटा बर्बादी से

विशेषज्ञों ने एक साहसिक यात्रा पर रवाना होते हुए, जहाँ इंटरनेट भी एक चक्कर लगाने लगा, और फिर एक करोड़ का बिल आया!

स्विट्जरलैंड घूमने गए एक महान व्यक्ति का मोबाइल बिल 1.19 करोड़ रुपये आया। आश्चर्यजनक बात यह है कि मोबाइल कंपनी ने इस भारी बिल को स्वीकृति दी। कंपनी के अनुसार, उपयोगकर्ता ने अंतरराष्ट्रीय रोमिंग के दौरान इंटरनेट डेटा का व्यापक उपयोग किया। सवाल यह है कि फिर क्या हुआ? वही तो कहानी है, मित्र।

क्या आप याद करते हैं कि आपने अपना मोबाइल बिल पिछली बार कितना भुगतान किया था? क्या यह 399 रुपये, 499 रुपये, 799 रुपये या फिर 1499 रुपये था? इससे ज्यादा होने की संभावना लगभग नहीं है क्योंकि हमारे देश में मोबाइल प्लान बहुत ही सार्वजनिक और अर्थव्यवस्थित होते हैं। प्रतिमाह के लिए 500 रुपये से कम में, आप 75 जीबी डेटा, असीमित कॉलिंग और एसएमएस प्राप्त कर सकते हैं। लेकिन सोचिए, यदि एक करोड़ रुपये से अधिक का बिल आ जाए तो! आप कहेंगे, “क्यों पुरानी कहानी फिर से बता रहे हो?” हाँ, हमें पता है कि एक बार विराट कोहली को भी ऐसा ही बिल मिला था।

ओ भाइयों और बहनों, हम कोई पुरानी कहानी नहीं बता रहे हैं। यह घटना हाल ही में हुई है। एक महान व्यक्ति का मोबाइल बिल 1.14 करोड़ रुपये आया। और हां, मोबाइल कंपनी ने इसे पूरी तरह से स्वीकार किया है। अब आप विश्वास कर सकते हैं। सवाल यह है कि इसका क्या कारण था? यही नई कहानी है।

घूमने के बिल चक्कर में घूम गया।

अमेरिका, फ्लोरिडा में एक 71 साल के रेन रेमंड के साथ एक ऐसा घटनाक्रम सामने आया। रेन रेमंड और उनकी पत्नी लिंडा स्विट्जरलैंड यात्रा पर गए थे। वापस आने पर, उन्हें 143,442.74 अमेरिकी डॉलर का मोबाइल बिल मिला, जो भारतीय मुद्रा में 1.19 करोड़ रुपये है। रेन रेमंड T-Mobile कंपनी के 30 साल पुराने ग्राहक हैं।

कुछ गड़बड़ महसूस करके, उन्होंने ग्राहक सेवा से संपर्क किया। उन्हें यह जानकर हैरानी हुई कि बिल ठीक था। रेमंड ने इस्तेमाल किए गए इंटरनेट के लिए स्विट्जरलैंड में भी काफी मात्रा में पैसे खर्च किए थे। उन्होंने अपनी यात्रा के दौरान कुल 9.5 जीबी डेटा उपयोग किया, जिससे प्रतिदिन के लगभग 5 लाख रुपये खर्च हुए।

पहली नजर में, यह असामान्य नहीं लगता है, लेकिन यह जीबी वह जीबी नहीं है जिसे हम आमतौर पर जानते हैं। यह गिगाबाइट है। हम Gb का उपयोग करते हैं, जिसका मतलब गिगाबाइट होता है, जबकि इस बड़े B का अष्टगुणा होता है। इसका मतलब है कि 9.5 का आठ गुणा 76Gb होता है। इसके साथ ही अंतरराष्ट्रीय रोमिंग के शुल्क भी जोड़ें। ये बहुत अधिक होते हैं। नतीजतन एक करोड़ का बिल। रेमंड के मुताबिक, जब उन्होंने ट्रैवल एजेंट से मोबाइल प्लान के बारे में पूछा, तो उसने बताया कि इसमें डेटा प्लान भी शामिल है।

हालांकि, कंपनी ने कोई गड़बड़ी का स्वीकार नहीं किया। इस बड़े बिल के कारण सोशल मीडिया पर चर्चा जरूरी थी। खबरों के अनुसार, सोशल मीडिया में चर्चा होने के बाद, T-Mobile ने रेमंड के पैसे वापस करने की बात कही है।

इस तरह की घटनाओं से बचने के लिए, अंतरराष्ट्रीय यात्रा से पहले सीधे टेलिकॉम कंपनी से सलाह लेना बेहतर होता है, न कि एजेंट से।

कृपया बताएं यदि आपको कोई अन्य परिवर्तन चाहिए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top